घरेलू हिंसा के प्रति महिलाओं को जागरूक करती है पुस्तक 'We Women' 

'सूर्या महिला कोषांग' की स्थापना आज ही के दिन लगभग 19 साल पहले 8 अक्टूबर 2002 को की गयी थी. यह भारत...

सम्पन्न हुई 11वीं बिहार राज्य वुशू मार्शल आर्ट प्रतियोगिता

पटना, 24 से 26 सितंबर तक बिहार वुशू संघ एवं पटना वुशू संघ के संयुक्त तत्वावधान में तीन दिवसीय 11वीं...

गंगा आरती शुरू करने के लिये सरकार के प्रति आभार: प्रभाकर मिश्र, संयोजक, प्र. भाजपा नमामि गंगे

पटना, 2 सितंबर, प्रदेश भाजपा नमामि गंगे के संयोजक प्रभाकर कुमार मिश्र और भाजपा नेता शैलेश महाजन ने र...

सामयिक परिवेश क्लब ने मनाया सावन मिलन समारोह

पटना, 20 अगस्त, सामयिक परिवेश क्लब का सावन-मिलन समारोह हाइड-आउट कैफे में हर्षोल्लास के साथ सम्पन्न ह...

दोहा-क़तर से पटना आकर डिजिटल मार्केटिंग सिखा रहे हैं अंशु दीक्षांत, प्रतिभा पलायन को रोकना है उद्देश्य

पटना, 24 जुलाई 2021, जहाँ प्रतिभाएं बिहार से विदेशों में पलायन कर रहीं हैं, वहीँ बिहार के सिवान जिले...

“शब्दांजली” कार्यक्रम में वरिष्ठ साहित्यकार डॉ. सतीशराज पुष्करणा जी को दी गयी श्रद्धांजलि

पटना, 11 जुलाई, “लघुकथा आंदोलन की शुरुआत करने वाले डॉ. सतीशराज पुष्करणा पटना में मेरे पड़ोसी हुआ करते...

फ्रेंडशिप (लेखक: राकेश सिंह ‘सोनू’)

लघु कथा  यह उसका तीसरा बॉयफ्रेंड था. पहनावे व हावभाव से वह भांप गई कि मुर्गा पैसेवाला है. जब लड़के ने बताया कि वह किराये के मकान में रहता है, तो उसे हैरत ना हुई. मगर...
Read more

सबक (लेखक: राकेश सिंह ‘सोनू’)

लघु कथा बस में उसे किसी ने चुटकी काट ली. उसे बुरा लगा. वही हरकत दोबारा हुई.    इस भीड़ में वह किस पर शक करती ?  तीसरी बार वही हुआ. इस बार उसने देख लिया. लड़क...
Read more

और लगाना पड़ा था फर्श पर पोछा : स्व.गिरीश रंजन, फिल्म निर्देशक

जब हम जवां थेंBy: Rakesh Singh ‘Sonu’ बचपन में मुझेसाहित्य से बड़ालगाव था. शरतचंदके साहित्य नेमुझे भावुक बनादिया. नतीजा यहकि तभी सेफिल्में आकर्षित करने लगीं, न...
Read more

बिहारी लोगों को बोली गयी बात मन में चुभ गयी : बिहार कोकिला, पद्मश्री, स्व.विंध्यवासिनी देवी,लोक गायिका

बिहारी लोगों को बोली गयी बात मन में चुभ गयी : बिहार कोकिला, पद्मश्री, स्व.विंध्यवासिनी देवी,लोक गायिका
सन 1948 में जब पटना में ‘आकाशवाणी‘ की शुरुआत हुई, तब से मेरा काम और बढ़ता गया. यूँ कहें कि मैं बिहार केलिए आकाशवाणी की देन हूँ, वही मेरा मंदिर, मस्जिद, गुरुद्व...
Read more

कुश्ती और फ़िल्में देखने का शौक था : स्व. रामसुंदर दास, भूतपूर्व मुख्यमंत्री, बिहार

कुश्ती और फ़िल्में देखने का शौक था : स्व. रामसुंदर दास, भूतपूर्व मुख्यमंत्री, बिहार
  1941  में कोलकाता के विधासागर कॉलेज से इंटर करने के बाद राजनीति में चला आया और इतना रम गया कि फिर आगे पढाई नहीं कर पाया. लेकिन हाँ, किताबें पढ़ने का शौक अनवरत जारी ...
Read more
250 x 250
250 x 250