75 वें स्वतंत्रता दिवस पर टाइम्स स्क्वायर, न्यूयॉर्क में फिर लहराया तिरंगा

पटना, भारतीय संस्था "बोलो ज़िन्दगी" की अमेरिका में ब्रांड एम्बेसडर एवं अमेरिका की संस्था 'वंदे मातरम'...

सरस्वती शिशु मंदिर, बख्तियारपुर में स्वतंत्रता दिवस हर्षोल्लास सम्पन्न हुआ

पटना, आजादी के 75 वीं बर्षगाँठ अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में सरस्वती शिशु मंदिर, बख्तियारपुर ,पटना मे...

दधीचि देहदान समिति का अष्टम अन्तर्राष्ट्रीय अंगदान दिवस हुआ आयोजित

पटना, 13 अगस्त २०२२, विद्यापति भवन के वातानूकुलित सभागार में आयोजित अष्टम अन्तर्राष्ट्रीय अंगदान दिव...

बख्तियारपुर के शिशु वाटिका एवं सरस्वती शिशु मंदिर विद्यालय में मना रक्षाबंधन

11 अगस्त, सरस्वती शिशु मंदिर,बख्तियारपुर विद्यालय में रक्षा बंधन के शुभ बेला में शिशु वाटिका के भैया...

'सावन, संगीत और उमंग' का सम्पन्न हुआ आयोजन 

पटना, 7 अगस्त, गोलारोड में मेक ए न्यू लाइफ फाउंडेशन एवं बोलो जिंदगी वेलफेयर फाउंडेशन के संयुक्त तत्व...

पहले कुश्ती के दंगल के पहलवान थे फिर संगीत के दंगल के योद्धा बने 102 वर्षीय जंग बहादुर सिंह

पटना, 5 अगस्त, आजादी का अमृत महोत्सव के दरम्यान देश भक्तों में जोश भरनेवाले अपने समय के नामी भोजपुरी...

और लगाना पड़ा था फर्श पर पोछा : स्व.गिरीश रंजन, फिल्म निर्देशक

जब हम जवां थेंBy: Rakesh Singh ‘Sonu’ बचपन में मुझेसाहित्य से बड़ालगाव था. शरतचंदके साहित्य नेमुझे भावुक बनादिया. नतीजा यहकि तभी सेफिल्में आकर्षित करने लगीं, न...
Read more

बिहारी लोगों को बोली गयी बात मन में चुभ गयी : बिहार कोकिला, पद्मश्री, स्व.विंध्यवासिनी देवी,लोक गायिका

बिहारी लोगों को बोली गयी बात मन में चुभ गयी : बिहार कोकिला, पद्मश्री, स्व.विंध्यवासिनी देवी,लोक गायिका
सन 1948 में जब पटना में ‘आकाशवाणी‘ की शुरुआत हुई, तब से मेरा काम और बढ़ता गया. यूँ कहें कि मैं बिहार केलिए आकाशवाणी की देन हूँ, वही मेरा मंदिर, मस्जिद, गुरुद्व...
Read more

कुश्ती और फ़िल्में देखने का शौक था : स्व. रामसुंदर दास, भूतपूर्व मुख्यमंत्री, बिहार

कुश्ती और फ़िल्में देखने का शौक था : स्व. रामसुंदर दास, भूतपूर्व मुख्यमंत्री, बिहार
  1941  में कोलकाता के विधासागर कॉलेज से इंटर करने के बाद राजनीति में चला आया और इतना रम गया कि फिर आगे पढाई नहीं कर पाया. लेकिन हाँ, किताबें पढ़ने का शौक अनवरत जारी ...
Read more

तब स्पॉट बॉय ने भी मुझे तंग किया था : के.के.गोस्वामी (हास्य अभिनेता)

वो मेरी पहली शूटिंग By: Rakesh Singh ‘Sonu’ मेरी पहली फिल्म थी भोजपुरी भाषा की ‘रखिह लाज अचरवा के’ जो 1996 में रिलीज हुई थी. इसके निर्देशक थे...
Read more

शूटिंग के दौरान बाल बाल बचा : स्व.प्यारे मोहन सहाय (अभिनेता)

शूटिंग के दौरान बाल बाल बचा : स्व.प्यारे मोहन सहाय (अभिनेता)
जब हम जवां थें By: Rakesh Singh ‘Sonu’       मैं बी.एन.कॉलेज का विद्यार्थी था लेकिन ग्रेजुएशन बीच में ही छोड़ मुझे नौकरी करनी पड़ी.रेलवे मेल सर्व...
Read more