कलमगार ने आयोजित किया काव्य-सरिता “ओ री गौरैया”

16 फरवरी, पटना के जक्कनपुर स्थित "संस्कारशाला सह पुस्तकालय" में एक महफ़िल सजी गौरैया के नाम. कलमगार स...

 ‘फनगेज़’ के माध्यम से क्रिकेटर गौतम गंभीर बिहारी खिलाड़ियों को बेहतर मौका देने आएं

पटना 13 फ़रवरी 2020,  "कई साल पहले ऐसा होता था कि क्रिकेट मेंस का गेम था लेकिन जिस तरीके से महिला क्र...

लेख्य मंजूषा के साहित्यिक कार्यक्रम में उपन्यास एवं कहानियों पर हुई चर्चा

पटना, 9 फरवरी, आर ब्लॉक स्थित द इंस्ट्च्यूशन ऑफ़ इंजीनियर्स (इंडिया) के लायब्रेरी हॉल में संस्था लेख्...

वैलेंटाइन वीक में रिलीज हो रही है भोजपुरी फिल्म ‘लैला-मजनू’

https://www.youtube.com/watch?v=xz6YzOqssKw&t=1s पटना 05 फरवरी 2020, "इस वक्त एक डायलॉग आम है, ज...

बोलो ज़िन्दगी फैमिली ऑफ़ द वीक : यू ब्लड बैंक की संस्थापिका शिखा मेहता की फैमिली, धवलपुरा, पटनासिटी

रविवार की शाम 26 जनवरी, रिपब्लिक डे के दिन 'बोलो ज़िन्दगी फैमली ऑफ़ द वीक' के तहत बोलो ज़िन्दगी की टीम...

बोलो ज़िन्दगी फैमिली ऑफ़ द वीक : फाइनआर्ट्स टीचर उपासना दत्ता की फैमिली, शास्त्रीनगर, पटना

18 जनवरी, शनिवार की शाम 'बोलो ज़िन्दगी फैमली ऑफ़ द वीक' के तहत बोलो ज़िन्दगी की टीम (राकेश सिंह 'सोनू',...

कोशिश करनेवालों की कभी हार नहीं होती : वरुण सिंह, प्रदेश संयोजक, कला एवं संस्कृति प्रकोष्ठ, भाजपा

कोशिश करनेवालों की कभी हार नहीं होती : वरुण सिंह, प्रदेश संयोजक, कला एवं संस्कृति प्रकोष्ठ, भाजपा
1989  में मैट्रिक का इक्जाम देने के बाद से ही मेरा रुझान कला एवं नाटकों की तरफ जाने लगा. स्कूल में भी बढ़-चढ़ के हिस्सा लेता था. उसी दरम्यान भारतीय जनता पार्टी से मेरा जुड़ा...
Read more

लड़की का एम.एम.एस. वायरल करने की बीमार मानसिकता का जिम्मेवार कौन ?

लड़की का एम.एम.एस. वायरल करने की बीमार मानसिकता का जिम्मेवार कौन ?
बहस By: Rakesh singh ‘sonu’ सोशल मीडिया पर लड़कियों के वायरल किये एम.एम.एस. देखकर जहाँ सभ्य समाज घृणा और क्रोध से भर उठता है वहीं सोचनेवाली बात है कि ऐसे में...
Read more

हिम्मत और साहस की अदभुत मिसाल हैं ये बहनें : शबा परवीन, शाबिया परवीन

हिम्मत और साहस की अदभुत मिसाल हैं ये बहनें : शबा परवीन, शाबिया परवीन
पटना,मसौढ़ी की 24 वर्षीया दिव्यांग शबा परवीन जहानाबाद के राजकीय महर्षि पतंजलि मध्य विधालय, महलचक में शिक्षिका हैं. उनका छोटा सा परिवार मसौढ़ी के रहमतगंज में किराये की झोंपड़...
Read more

तब नक्सल इलाके में छत पर सोने में घबराहट सी होती थी: ज्योति शर्मा, सीनियर सब एडिटर, राष्ट्रीय सहारा

तब नक्सल इलाके में छत पर सोने में घबराहट सी होती थी: ज्योति शर्मा, सीनियर सब एडिटर, राष्ट्रीय सहारा
    जब मेरी शादी हुई मैं दैनिक आज, पटना में रिपोर्टर थी और मेरे पति दैनिक जागरण में थें. ससुर जी तब बोकारो में सेटल थें लेकिन शादी के अगले दिन कुछ विध व्यवहार क...
Read more

तब एक छात्रा का चप्पल प्रकरण चर्चा का विषय बन गया था : पदमश्री डॉ. उषा किरण खान,साहित्यकार

तब एक छात्रा का चप्पल प्रकरण चर्चा का विषय बन गया था : पदमश्री डॉ. उषा किरण खान,साहित्यकार
हम छात्रावास में हों या कॉलेज-विश्वविधालय में उस समय की मस्ती ही कुछ और होती है. मैं पटना विश्वविधालय के प्राचीन इतिहास विभाग में थी. पूरे विभाग का स्टडी टूर राजगीर गया थ...
Read more
250 x 250
250 x 250